March 4, 2021

News Chakra India

Never Compromise

अयोध्या में राम मंदिर की नींव का काम जनवरी में शुरू होगा

1 min read

[ad_1]

Ram Mandir Ayodhya construction january latest news । अयोध्या में राम मंदिर की नींव का काम जनवरी में- India TV Hindi
Image Source : PTI
अयोध्या में राम मंदिर की नींव का काम जनवरी में शुरू होगा

अयोध्या. श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र के एक सदस्य ने बुधवार को बताया कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर की नींव का काम जनवरी से शुरू होगा। ट्रस्ट के महासचिव चम्पत राय ने बताया कि सरयू नदी के बहाव से मंदिर की नींव को नुकसान ना हो इसके लिए जमीन के नीचे एक दीवार का निर्माण होगा। उन्होंने कहा कि काम जनवरी में शुरू होगा और विभिन्न इंजीनियरिंग इंस्टीट्यूट के विशेषज्ञ इसकी तैयारी में जुटे हैं। ट्रस्ट ने बताया कि विश्व हिन्दू परिषद के नेताओं के साथ बैठक करके मंदिर निर्माण की प्रगति पर चर्चा की जाएगी। 

पढ़ें- अयोध्या में बन रही मस्जिद के लिए हिंदू ने दिया सबसे पहला चंदा, मिल रही है हर तरफ से तारीफ

मथुरा: शाही ईदगाह मस्जिद हटाने को लेकर अदालत में नवीन याचिका

श्रीकृष्ण जन्मस्थान और शाही ईदगाह के मामले में हिंदू आर्मी द्वारा सिविल जज (प्रवर वर्ग) की अदालत में एक सप्ताह पहले दी गई अर्जी पर चार जनवरी को सुनवाई होनी है। अर्जी पर पहले मंगलवार को ही सुनवाई होनी थी, लेकिन शोकावकाश के कारण उसे टालना पड़ा। स्वयं को हिंदू आर्मी का प्रमुख बताने वाले मनीष यादव ने भगवान श्रीकृष्ण का वंशज बताते हुए अदालत में दावा पेश किया है। जिसमें उन्होंने 1967 में श्रीकृष्ण जन्मस्थान की जमीन को लेकर शाही ईदगाह के साथ हुए समझौते की डिक्री (न्यायिक निर्णय) को रद्द कर ईदगाह को ध्वस्त करके उक्त जमीन कृष्ण जन्मभूमि ट्रस्ट को वापस करने की मांग की है।

पढ़ें- अयोध्या में मस्जिद निर्माण को लेकर बढ़ी हलचल

गौरतलब है कि इससे पूर्व लखनऊ निवासी अधिवक्ता रंजना अग्निहोत्री आदि आधा दर्जन भक्तों ने भगवान की ओर से याचिका दाखिल कर यही मांगें जनपद की अदालत में रखी थीं। उन्होंने उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन, शाही ईदगाह मैनेजमेंट कमेटी के सचिव, श्रीकृष्ण जन्मभूमि ट्रस्ट के प्रबंधक न्यासी तथा श्रीकृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान के सचिव को पक्ष बनाया था।

पढ़ें- Ram Mandir के लिए धन संग्रह का अभियान मध्य प्रदेश में जनवरी से

मनीष यादव ने भी अधिवक्ताओं के माध्यम से इन्हीं सब को प्रतिवादी बनाते हुए 15 दिसम्बर को एक दावा सिविल जज (प्रवर वर्ग) नेहा भदौरिया की अदालत में दाखिल किया था। जिसमें अदालत ने इस संबंध में 22 दिसंबर को पुन: सुनवाई तय की थी। मंगलवार को यादव अदालत में पेश हुए, परंतु एक अधिवक्ता के आकस्मिक निधन के कारण अदालत में शोकावकाश घोषित कर दिया गया। 



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.