March 5, 2021

News Chakra India

Never Compromise

नए कृषि कानूनों के समर्थन में किसानों का प्रदर्शन, बोले-बॉर्डर पर बैठे लोग समझें बारीकी

1 min read

[ad_1]

Road traffic disrupted amid demonstration by farmers supporting new farm laws- India TV Hindi
Image Source : ANI
केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के समर्थन में किसानों का एक समूह आज सड़क पर प्रदर्शन किया। 

नोएडा: केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के समर्थन में किसानों का एक समूह आज सड़क पर प्रदर्शन किया। इस दौरान किसानों ने केंद्र सरकार के पक्ष में नारेबाजी की और कृषि कानूनों को लागू करने की मांग की। पिछले एक सप्ताह से गौतमबुद्ध नगर में कुछ संगठन किसान बिलों का समर्थन करने के लिए गांव-गांव जाकर पंचायतें कर रहे थे। प्रदर्शन की वजह से नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे पर सैकड़ों वाहनों की कतार लग गई। अधिकारियों ने बताया कि ये प्रदर्शनकारी मुख्यत: ग्रेटर नोएडा के जेवर और दादरी के रहनेवाले हैं और उन्हें पुलिस ने कथित तौर पर महामाया फ्लाईओवर पर रोक दिया। 

उन्होंने बताया कि ग्रेटर नोएडा-नोएडा मार्ग पर सामान्य यातायात करीब तीन घंटे बाद ही बहाल हो पाया। नोएडा यातायात पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि कुछ समय तक यातायात प्रभावित रहने के बाद महामाया फ्लाईओवर के निकट वाले हिस्से पर सामान्य यातायात बहाल हो गई। 

ये भी पढ़े: कनाडा में मृत मिली पीएम मोदी को भाई मानने वाली करीमा, ISI पर हत्या की आशंका

हालांकि नोएडा से दिल्ली जाने के लिए अब भी चिल्ला बॉर्डर (एक तरफ से) बंद है, जहां भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के सदस्य एक दिसंबर से ही नए कृषि कानूनों का विरोध करने के लिए जमा हैं। अधिकारी ने बताया कि चिल्ला बॉर्डर केवल दिल्ली से नोएडा जाने वाले लोगों के लिए खुला है। 

ये भी पढ़े: मुंबई में क्लब पर छापेमारी में पकड़े गए सुरेश रैना, सुजैन खान समेत 34 लोग

उन्होंने बताया कि नोएडा और दिल्ली की यात्रा करने वाले लोगों को डीएनडी और कालिंदी कुंज मार्ग से जाने की सलाह दी गई है। इसी बीच भाकियू (लोक शक्ति) के सदस्य दलित प्रेरणा स्थल पर जमे हैं। वे यहां दो दिसंबर से ही नए कानून का विरोध कर रहे हैं। 

ये भी पढ़े: New coronavirus strain: नए कोरोना वायरस से निपटने के लिए योगी सरकार ने दिया ये बड़ा आदेश

यहां आये प्रदर्शनकारी पश्चिमी उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों से ताल्लुक रखते हैं। ये किसान उस स्थान पर जाना चाहते थे जहां पंजाब और हरियाणा के किसान दिल्ली की सीमा पर पिछले कई दिनों से धरने पर बैठे हुए हैं।



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.