राज्यसभा चुनाव: वोट डालने वाले एक विधायक के खिलाफ बीजेपी ने दर्ज कराई एफआईआर

एनसीआई @ जयपुर
राज्यसभा की 3 सीटों के लिए आज विधानसभा में वोटिंग हुई। चुनाव के साथ ही विधायकों को बाड़ाबंदी से आजादी भी मिल गई।
उल्लेखनीय है कि 10 जून से कांग्रेस के विधायकों को जेडब्ल्यू मैरियट रिसॉर्ट में रखा गया था। आज इन विधायकों को वोटिंग के लिए विधानसभा ले जाया गया। मतदान के दौरान राजस्थान विधानसभा में उस समय अनोखा नजारा देखने को मिला, जब एक विधायक ने पीपीई किट पहन कर राज्यसभा चुनाव में वोट डाला। राज्यसभा चुनाव के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ।
दरअसल, बहुजन समाज पार्टी से कांग्रेस में आए विधायक वाजिब अली एक दिन पहले ही विदेश यात्रा से लौटे हैं। कारोबार के सिलसिले में ऑस्ट्रेलिया गए नगर सीट से विधायक वाजिब अली खासतौर से राज्यसभा चुनाव के लिए ही भारत लौटे हैं। ऐसे विदेश से लौटे नागरिकों के लिए कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना आवश्यक था। भारत आने के 48 घंटे के भीतर वाजिब अली वोट डालने पहुंचे थे। वोट डालने के लिए वाजिब अली ने जैसे ही अपना बैलेट पेपर लिया तो प्रतिपक्ष के उपनेता राजेन्द्र राठौड़ ने उन्हें टोका।
राठौड़ ने वाजिब अली को सम्बोधित करते हुए कहा कि आप तो शायद एक दिन पहले ही विदेश से लौटे हैं। राठौड़ की बात सुनते ही निर्वाचन अधिकारी भी अलर्ट हो गए। इस पर निर्वाचन अधिकारी ने वाजिब अली से राठौड़ की बात की पुष्टि की और वाजिब अली द्वारा विदेश यात्रा की बात कहने पर निर्वाचन अधिकारी ने उनका मतपत्र अपने पास ही सुरक्षित रख लिया। वाजिब अली को मतदान से रोका गया तो कांग्रेस का खेमा भी एक्शन में आया। अपने प्रत्याशियों के वोट का गणित बनाए रखने के लिए वाजिब अली के लिए तत्काल एक पीपीई किट मंगाई गई। इसके बाद विधायक वाजिब अली ने उसे पहनकर वोट डाला।
वहीं, पीपीई किट पहनकर मतदान करने के बाद वाजिब अली के खिलाफ बीजेपी विधि प्रकोष्ठ के सुरेन्द्र सिंह नरूका ने रिपोर्ट दर्ज करवाई। उन्होंने ज्योति नगर थाने में रिपोर्ट दर्ज करने बाबत परिवाद दिया। विधायक वाजिब अली पर कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया है।
यहां गौरतलब है कि कांग्रेस के दोनों प्रत्याशियों की जीत तो वाजिब अली के वोट के बिना भी तय थी, लेकिन पीपीई किट पहन कर डाला गया वाजिब अली का वोट इस चुनाव को यादगार बना गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.