प्रियंका-राहुल एक्टिव, पायलट हुए नरम, ‘फिलहाल तो’ बन गई बात, मगर कब तक?

एनसीआई@जयपुर/नई दिल्ली
राजस्थान के सियासी संकट के लिए बेहद महत्वपूर्ण मानी जा रही 11 और 14 अगस्त की तारीखों के मद्देनजर सियासी सरगर्मियां सोमवार को अपने परवान पर पहुंच चुकी थीं। नए-नए अंदाज लगाए जा रहे थे, सबकी अपनी-अपनी अटकलबाजियां जारी थीं। राजनीति फिल्मी ड्रामे से भी अधिक नाटकीय होती है, यह तो मालूम है, मगर आज जो कुछ हुआ,ऐसी पटकथा की तो किसी ने भी कल्पना नहीं की होगी।
ऐसे चला घटनाक्रम
देर शाम अचानक खबर आई कि सरदार शहर विधायक वयोवृद्ध पंडित भंवर लाल शर्मा सचिन पायलट के खेमे से निकलकर जयपुर पहुंच गए हैं। वे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिलने उनके आवास पर पहुंच रहे हैं। कुछ ही देर बाद वे मुख्यमंत्री आवास पर दिखाई दिए। कुछ मिनट की मुलाकात के बाद वे अंदर से बाहर निकले। कार में बैठे भंवरलाल को मीडिया कर्मियों ने घेरा तो उन्होंने उन्हें घर पर आने के लिए कहा। घर पहुंचे मीडियाकर्मियों से वे बोले- पार्टी साझा परिवार है, अशोक गहलोत मुखिया हैं। कोई नाराज हो जाता है तो एक दो समय खाना नहीं खाता है। मेरी नाराजगी दूर हो गई है। मैं मेरी इच्छा से गया था, इच्छा से आया हूं। ‌ एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री से विकास के कार्यों स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल के बारे में बात हो गई है। उन्होंने इन्हें करवाने का आश्वासन दे दिया है। यह काम पहले ही हो जाते तो यह समस्या पैदा नहीं होती। अब क्षेत्र में जाकर काम करूंगा। 5 साल सरकार चलेगी। ‌ खरीद फरोख्त के मामले में वायरल एक ऑडियो, जिसे उनकी आवाज का बताया जा रहा के सम्बन्ध में शर्मा ने कहा कि मैं जानता ही नहीं हूं ऑडियो क्या होता है। बीजेपी से लेना-देना नहीं। उन्होंने देशद्रोह के आरोप पर नाराजगी जताई। यहां यह भी साफ हो गया था कि भंवर लाल शर्मा सचिन पायलट को छोड़कर नहीं अपितु सचिन व राहुल गांधी की बैठक में बनी सहमति के बाद जयपुर लौटे थे। रात को सचिन को भी बाकी विधायकों के साथ जयपुर लौट आना था।
तेजी से चला घटनाक्रम
हुआ भी यही, कुछ ही मिनट में दिल्ली से खबर आ गई कि सियासी संकट के बाद पहली बार सचिन पायलट मीडिया के सामने आ रहे हैं। सचिन पायलट केसी वेणुगोपाल और अविनाश पांडे के साथ मीडिया के सामने आए। केसी वेणुगोपाल के बाद सचिन ने मीडिया को सम्बोधित किया। वेणुगोपाल ने बताया की राहुल- प्रियंका से बात में बात बन गई है। सचिन व इनके गुट के विधायकों की शिकायतों के समाधान के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित कर दी गई है। सचिन पायलट कांग्रेस में रहेंगे। राजस्थान कांग्रेस को मजबूत करेंगे।
सचिन यह बोले-
सचिन पायलट ने कहा-मुझे पद का लालच नहीं, सम्मान मिलना चाहिए।‌ सचिन ने खुलकर उनके खिलाफ दर्ज करवाए गए देशद्रोह के आरोप पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि काम करने के तरीके पर आपत्ति थी। इसके अलावा अशोक गहलोत सहित अन्य विधायकों द्वारा उनके बारे में की गई आपत्तिजनक टिप्पणियों पर भी गहरा आक्रोश जताया। सचिन ने कहा, मैंने पार्टी हित की बातें उठाईं, मगर मेरे बारे में व्यक्तिगत टिप्पणियां की गईं। मेरे बारे में ऐसी बातें की गई, कमेंट किए गए, जिनसे मुझे भी आश्चर्य हुआ। हमने खुद ने मेहनत करके सरकार का निर्माण किया था। अपनी सारी आपत्तियां हाईकमान तक पहुंचाई हैं। उन्होंने सभी बातों को गम्भीरता से सुना। सचिन ने आशा जताई कि उन्हें दिए गए आश्वासनों को पूरा किया जाएगा। सैद्धांतिक मुद्दे थे। पार्टी पद दे भी सकती है, पार्टी पद ले भी सकती है।
इधर यह भी जानकारियां आईं-
-मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पायलेट खेमे को आश्वासन दिया कि अब किसी भी तरह की कोई भी पुलिस कार्रवाई नहीं की जाएगी। विधायकों के खरीद-फरोख्त के टेप कांड की जांच भी बंद होगी।
– सचिन पायलट गुट के सभी विधायक सोमवार रात जयपुर के लिए रवाना होंगे। सचिन पायलट भी साथ में जयपुर आएंगे। रात 8:30 बजे की मीटिंग के बाद पायलट अपने विधायकों के साथ जयपुर रवाना होंगे।
– मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात के बाद मीडिया से बातचीत में विधायक भंवरलाल शर्मा ने कहा कि गहलोत सरकार अब सभी समस्याओं को दूर करेगी, पूरे 5 साल चलेगी।
– इससे पहले राजस्थान बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने कहा कि कांग्रेस में हुए घटनाक्रम के बाद हमारा होटल क्राउन प्लाजा का खर्चा बच गया है। बीजेपी विधायक 11 अगस्त से होटल क्राउन प्लाजा में रहेंगे या नहीं, इस पर फैसला लिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि इससे पहले यह तय किया गया था कि होटल क्राउन प्लाजा में बैठक के बाद भाजपा विधायक, 14 अगस्त तक होटल में ही रहेंगे। दरअसल, बीजेपी अपने विधायकों को मध्य प्रदेश और गुजरात भेजने में असफल रही है। इसके बाद अब पार्टी ने तय किया है कि सभी विधायकों को जयपुर के क्राउन प्लाजा होटल में ही 11 अगस्त से रखा जाएगा।
वैसे 20 विधायक अब तक गुजरात भेजे जा चुके हैं,लेकिन वे भी सोमवार को गुजरात से जयपुर के लिए रवाना हो रहे हैं। सभी बीजेपी विधायकों को मंगलवार सुबह तक जयपुर में सीतापुरा के क्राउन प्लाजा होटल में पहुंचने के लिए कहा गया है।
कहा जा रहा है कि वसुंधरा राजे पहले 13 अगस्त को आने वाली थीं। मगर अब 11 अगस्त को विधायकों के साथ ही जयपुर के क्राउन प्लाजा होटल पहुंचेंगी। माना जा रहा है कि इस बाड़ेबंदी के जरिये बीजेपी यह भी परखेंगी कि जिस तरह की चर्चा हो रही है कि वसुंधरा गुट के कुछ विधायक कांग्रेस के साथ जा सकते हैं, इसमें कितनी सच्चाई है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.