May 11, 2021

News Chakra India

Never Compromise

आपके जीवन में हो चुके हैं ये बड़े बदलाव, जागरूकता जरूरी :डॉ. नाग, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कैट

1 min read

डॉ. आदित्य नाग, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कैट

डॉ. आदित्य नाग, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कैट

-कैट (कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. आदित्य नाग ने कहा कि उपभोक्ताओं व व्यापारियों में जागरूकता होना जरूरी
-‘ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस’ को मिलेगा बढ़ावा
एनसीआई@जयपुर
केन्द्र सरकार द्वारा 1 अक्टूबर से व्यापारियों सहित आम लोगों से जुड़े 10 नियमों में बड़ा बदलाव करते हुए ईज ऑफ डूइंग बिज़नेस की ओर महत्वपूर्ण कदम उठाया है। इससे अब ड्राइविंग लाइसेंस से लेकर क्रेडिट कार्ड, मोबाइल फोन, विदेशी धन की आवक, मिठाइयों, स्वास्थ्य बीमा , टेलीविजन सेट, सरसों का तेल तथा टीसीएस से सम्बन्धित नियमों में आम लोगों को राहत दी गई है।

बीसी भरतिया, राष्ट्रीय अध्यक्ष कैट

इस क्रम में कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि इन बदलावों के बारे में केन्द्र एवं राज्य सरकारों को चाहिए कि वे लोगों को इनकी जानकारी देने के लिए विशेष अभियान चलाए। ये बदलाव व्यापारियों, उपभोक्ताओं व हर आम व्यक्ति के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं, जिनका पालन किया जाना आवश्यक किया गया है।

प्रवीण खंडेलवाल, राष्ट्रीय महामंत्री कैट 

-भरतिया व खंडेलवाल ने बताया कि अब वाहन चलाते समय ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन के ऑरिजिनल कागजात हर समय साथ रखने की जरूरत नहीं है। इसके लिए आज से केन्द्र सरकार एक टेक्नोलॉजी पोर्टल शुरू करेगी, जिसमें डिजी लॉकर अथवा एम परिवहन के जरिये लोग अपने वाहनों के कागजातों की प्रति सुरक्षित रख सकते हैं और आवश्यकता पड़ने पर सम्बन्धित अधिकारी/कर्मचारी को दिखाए जा सकते हैं। यह सारा काम केवल इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम के द्वारा होगा।
-इसके अलावा अब से वाहन चलाते समय रूट बताने के लिए मोबाइल में ऐसी व्यवस्था होगी, जिससे वाहन चलाने वाले व्यक्ति का ध्यान कहीं और न जाए।
-वहीं नए बदलाव के तहत अब प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में एलपीजी सिलेंडर मुफ्त मिलना बंद हो गया है।
-भरतिया व खंडेलवाल ने बताया कि अब से विदेश भेजने के लिए अथवा अन्य किसी प्रकार से 7 लाख से अधिक रुपए के ट्रांसफर पर 5 प्रतिशत टीसीएस कर लगेगा।
-वहीं किसी भी दुक़ान पर यदि खुली मिठाई बिकती है तो ऐसे मिठाई विक्रेता को उस खुली मिठाई की ट्रे पर अनिवार्य रूप से ‘बेस्ट बिफोर यूज’ लिखकर वह तारीख भी अंकित करनी होगी।
-टेलीविजन बनाने में प्रयुक्त होने वाले ओपन सेल पैनल यदि किसी अन्य देश से आते हैं तो उन पर 5 प्रतिशत की इम्पोर्ट ड्यूटी लगेगी। इसका सीधा सा उद्देश्य अब इन पैनल को विदेशों से मंगवाने की बजाय ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ के तहत इनके निर्माण को भारत में ही बढ़ावा देना है।
-रिज़र्व बैंक के एक नोटिफिकेशन के अनुसार अब क्रेडिट-डेबिट कार्ड उपयोग करने वाले लोग किसी भी सेवा को लेने अथवा न लेने, अन्तरराष्ट्रीय, ऑनलाइन आदि ट्रांजेक्शन पर खर्चे की सीमा को निर्धारित कर सकेंगे, जिससे कार्ड के दुरुपयोग की आशंका कम हो जाएगी।
-अब सरसों के तेल को किसी अन्य एडिबल (खाने योग्य) तेल के साथ नहीं मिलाया जा सकेगा।
-अब ई कॉमर्स पोर्टल चलाने वाली कम्पनियों को उनके पोर्टल पर हुई हर सामान अथवा सेवा की बिक्री पर 1 प्रतिशत टीसीएस देना होगा।
राजस्थान वासियों के लिए अच्छी खबर
कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. आदित्य नाग ने बताया कि राजस्थान में कैट व्यापारियों के सहयोग से उपभोक्ताओं को इन सब बदलाव के प्रति जागरूक करने के लिए विशेष जागरूकता अभियान चलाएगी। उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष सुरेश गोयल को बताया कि इसकी रूपरेखा तैयार कर जल्द ही व्यापारियों~उपभोगताओं में सामंजस्य स्थापित करने के लिए यह अभियान चलाया जाएगा।
मिठाई व्यापारियों के हित में उठाई आवाज
भरतिया व खंडेलवाल ने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से आग्रह किया है कि खुली मिठाई पर बेस्ट बिफोर यूज़ तारीख लगाना बेहद मुश्किल काम हैं और वो भी ऐसे लाखों मिठाई वालों के लिए जो देश भर में गली-मोहल्ले में छोटी दुकानों पर प्रतिदिन मिठाई बनाकर बेचते हैं। उन्होंने कहा कि फिलहाल इस प्रावधान को स्थगित किया जाए। इसके बाद पहले देश भर में मिठाई विक्रेताओं के बीच एक व्यापक जनजागरण अभियान चलाकर उन्हें जागरूक किया जाए। उसके बाद ही इस प्रावधान को लागू किया जाए। राजस्थान के मिठाई व्यापारियों ने उनके इस वक्तव्य का स्वागत किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.