March 9, 2021

News Chakra India

Never Compromise

कोटा-बून्दी में भी जमकर हल्ला बोल, पुलिस से धक्का-मुक्की, कार्यकर्ताओं के कपड़े फटे

1 min read

एनसीआई@कोटा/बून्दी
राजस्थान भर में बढ़ते आपराधिक प्रकरणों विशेषकर दुष्कर्म की घटनाओं के विरोध में भाजपा की ओर से सोमवार को कोटा और बून्दी में भी राज्य की गहलोत सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन हुए। इस दौरान जिलाधिकारियों को ज्ञापन सौंपने का प्रयास कर रहे भाजपाइयों की पुलिसकर्मियों से गर्मा गर्मी भी हुई।
दलित महिलाओं व बच्चियों के खिलाफ दुष्कर्म तथा गैंग रेप के खिलाफ राज्यपाल के नाम ज्ञापन
कोटा। भाजपा की राष्ट्रीय मंत्री डॉ. अलका गुर्जर, जिला प्रभारी प्रो. बीपी सारस्वत, जिलाध्यक्ष कृष्णकुमार सोनी व विधायक कल्पना देवी के नेतृत्व में जिला, मंडल एवं मोर्चों के पदाधिकारियों के साथ राज्यपाल के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा गया। इससे पूर्व भाजप कार्यकर्ता सर्किट हाउस पर एकत्र होकर नारेबाजी करते हुए जिला कलक्ट्रेट पहुंचे।
जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपते समय भाजपा नेताओं ने कहा कि राजस्थान में गहलोत सरकार के 20 माह के कार्यकाल में आमजन, महिलाओं, दलितों एवं आदिवासियों के प्रति अत्याचार में खासी बढ़ोतरी हुई है। दिसम्बर, 2018 में बनी इस‌ सरकार के काल में कानून व्यवस्था दिन-प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है। सरकार का नियंत्रण खत्म हो जाने से पुलिस के प्रति आमजन का विश्वास खत्म हो गया है।
राज्य के विभिन्न थानों में दिसम्बर 2018 से अगस्त 2020 तक 4 लाख 35 हजार के करीब प्रकरण दर्ज हुए। इनमें दलितों की हत्या व हत्या के प्रयास, बच्चियों व महिलाओं के प्रति बलात्कार, छेड़छाड़, यौन शोषण, अस्पृशता आदि के 11 हजार 200 मुकदमे दर्ज हुए। यह सरकार के सुशासन, संवेदनशीलता व जवाबदेही प्रशासन देने के लिए कटिबद्धता की पोल खोल रहे हैं।
महिलाओं के प्रति अपराधों में देशभर में राजस्थान का दूसरा स्थान है व देश के 10.2 प्रतिशत अपराध राजस्थान में हुए हैं। इसी प्रकार से देश के 19 महानगरों में प्रदेश कि राजधानी जयपुर शहर का महिलाओं के प्रति अपराधों में चौथा स्थान होना व नेशनल क्राइम रिकाॅर्ड ब्यूरो की रिपोर्ट के ताजा आंकड़ों के अनुसार दुष्कर्म से सम्बन्धित अपराधों में राजस्थान का प्रथम स्थान होना प्रदेश का दुर्भाग्य है। देश के 18.72 प्रतिशत अपराध राजस्थान में हुए हैं।
वर्ष 2018 में 4 हजार 335 दुष्कर्म से सम्बन्धित अपराध दर्ज हुए, जो 2019 में 5 हजार 997 हो गए। कुल 38.34 प्रतिशत की बढ़ोतरी राज्य सरकार पर कलंक है। 12 वर्ष से अधिक व 18 वर्ष से कम आयु की बच्चियों के प्रति दुष्कर्म के मामलों में देश में राजस्थान का प्रथम स्थान होना शर्मनाक है। दलितों के प्रति अत्याचारों में देश में राजस्थान का दूसरा स्थान होना दुर्भाग्यपूर्ण है। देश के ऐसे 14.81 प्रतिशत अपराध राजस्थान में हुए हैं। इसी प्रकार आदिवासियों के प्रति अत्याचारों में देश में राजस्थान का दूसरा स्थान है। देश के 21.8 प्रतिशत अपराध राजस्थान में हुए हैं। राज्य सरकार को प्रदेश में शासन में रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है।
राष्ट्रीय पदाधिकारी भी रहीं मौजूद
रैली में भाजपा राष्ट्रीय मंत्री अलका गुर्जर, भाजपा कोटा शहर जिला के संगठन प्रभारी एवं प्रशिक्षण अभियान के प्रदेश संयोजक प्रो. भगवती प्रसाद सारस्वत, लाडपुरा विधायक कल्पना देवी, जिलाध्यक्ष कृष्ण कुमार सोनी, पूर्व उपमहापौर सुनीता व्यास, जिला महामंत्री जगदीश जिंदल, मुकेश विजय, चंद्रशेखर नरवाल, भाजपा कोटा सम्भाग के मीडिया प्रभारी अरविन्द सिसोदिया, जिला उपाध्यक्ष जटाशंकर शर्मा, नेता खंडेलवाल, लक्ष्मण सिंह खींची, सुरभि शाह झामनानी, देवेंद्र राही, संतोष बैरवा, जिला मंत्री सीमा भारद्वाज, रेखा खेलवाल,अंजू बाला सेन, आशा चतुर्वेदी कार्यालय मंत्री गोपाल कृष्ण सोनी, कोषाध्यक्ष मुकेश हरचंदानी, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष अनुसुइया गोस्वामी, युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष गिर्राज गौतम, ओबीसी मोर्चा जिलाध्यक्ष नरेंद्र सोलंकी,मंडल अध्यक्ष में स्टेशन से रमेश शर्मा, रेलवे कोलोनी से महेंद्र सिंह निर्भय, रामपुरा से दिनेश शर्मा, बोरखेड़ा से दौलत राम मेघवाल व उद्योग नगर से रविन्द्र सिंह हाड़ा शामिल रहे।
इनके अलावा जिला कार्यकारिणी सदस्य अनिल शर्मा, ओबीसी मोर्चा के अवधेश अजमेरा, प्रशिक्षण अभियान के जिला संयोजक मनोज पुरी, अमित उराडिया, दिलीप नरूका, महिपाल सिंह, सुमन मेहरा, अरविन्द जौहरी , सचिन मिश्रा, बृजभान सिंह आदि कार्यकर्ताओं ने भी इसमें शिरकत की।
कोटा देहात ने भी दिया ज्ञापन
कोटा देहात के जिला अध्यक्ष मुकुट नागर के नेतृत्व में भी बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने जिला कलक्टर को राज्यपाल के नाम ज्ञापन दिया। पूर्व विधायक हीरालाल नागर सहित कई अन्य वरिष्ठ भाजपाई नेता व कार्यकर्ता उनके साथ रहे।
पुलिस से हुई धक्का-मुक्की, कपड़े फटे
बून्दी। राजस्थान में महिलाओं व बच्चों के खिलाफ लगातार बढ़ते अपराधों को लेकर प्रदेश भाजपा के आह्वान पर सोमवार को जिला भाजपा ने जिला कलक्ट्रेट पर जोरदार हल्ला बोल कार्यक्रम किया। इस दौरान ज्ञापन देने के लिए कलक्ट्रेट में घुसने का प्रयास कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोकने की कोशिश की तो उनकी पुलिस से धक्का-मुक्की हो गई। इसमें कुछ भाजपा कार्यकर्ताओं के कपड़े फट गए। पुलिस ने कलक्ट्रेट में प्रवेश नहीं करने दिया, इस पर कार्यकर्ता आवेश में आ गए। उन्होंने कांग्रेस सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस बीच जिला भाजपा की ओर से राज्यपाल के नाम प्रेषित किए जाने वाले ज्ञापन की प्रति को कलक्ट्रेट के प्रवेश द्वार पर ही चस्पा कर दिया।
इससे पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष छीतर लाल राणा ने प्रदेश में बिगड़ी कानून व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री पर निशाना साधा। जिला संगठन प्रभारी नरेश बंसल, भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष व केशवरायपाटन विधायक चन्द्रकांता मेघवाल, बून्दी विधायक अशोक डोगरा, पूर्व सांसद गोपाल पचेरवाल व भाजपा नेता ओमेंद्र सिंह हाड़ा ने भी गहलोत सरकार की बखिया उधेड़ी। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी-प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश ते चले जाते हैं, लेकिन इतनी वारदातें होने के बाद भी राजस्थान क्यों नहीं आते।
प्रदर्शन में ये रहे शामिल
इस दौरान जिला उपाध्यक्ष रामबाबू शर्मा, पुरुषोत्तम शर्मा, सीताराम सैनी, परमेंद्र सिंह, तेज नारायण दुबे, जिला महामंत्री योगेंद्र शृंगी, लक्ष्मण सिंह हाड़ा, जिला मंत्री रजनी छाबड़ा, जिला प्रवक्ता मनीष पाटनी, सम्पत जैन, पवन चौहान, एसटी मोर्चा की प्रदेश उपाध्यक्ष आशा मीणा, महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष ललिता नुवाल, बून्दी शहर मंडल अध्यक्ष महावीर खंगार, लाखेरी अध्यक्ष महेंद्र, केशवरायपाटन पालिका के पूर्व चेयरमैन भगवान मलिक, भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अनिल जैन, राधेश्याम गुर्जर, बुद्धि प्रकाश गौतम, निर्मल मालव, केशवरायपाटन के पूर्व प्रधान प्रशांत मीणा, बृजबाला गुप्ता, पूर्व पार्षद मुकेश माधवानी, संजय भूटानी, जितेंद्र मेवाड़ा, राजेश शेरगढ़िया, अनिल चतुर्वेदी, प्रेम जांगिड़, घांसी लाल गुर्जर, हुमेरा केसर, सरपंच सुनील मीणा, घांसी लाल गुर्जर आदि भाजपा कार्यकर्ता व नेता इस दौरान मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.