April 21, 2024

News Chakra India

Never Compromise

बोरखेड़ा लिंक रोड पर घटिया सड़क निर्माण का आरोप, आक्रोशित लोगों ने काम बंद करवाया

1 min read

एनसीआई@कोटा
रॉयल सनसिटी बोरखेड़ा लिंक रोड थेकड़ा स्थित श्मशान के पास की कॉलोनी में आयूआईडीपी के द्वारा किए जा रहे सड़क निर्माण कार्य को घटिया बताते हुए क्षेत्रवासियों ने विरोध कर उसे बंद करवा दिया। यहां सीवरेज लाइन डालने के बाद डामर की सड़क बनाई जा रही है।
क्षेत्रवासी रूपनारायण यादव ने कहा, क्वालिटी का आलम यह है कि सड़क की परत को हाथों से निकाला जा सकता है। डामर हाथों से ही उखड़ रहा है। काम बंद करवाने की सूचना मिलने पर आरयूआईडीपी के अधिशासी अभियंता सुभाष अग्रवाल मौके पर पहुंचे और ठेकेदार को ठीक से काम करने के निर्देश दिए।
उल्लेखनीय है कि शहर में करीब 525 करोड़ रुपए की लागत से राजस्थान नगरीय आधारभूत विकास परियोजना (आरयूआईडीपी) की तरफ से सीवरेज लाइन डालने का काम चल रहा है। इसी के तहत थेगड़ा स्थित रॉयल सनसिटी में भी सीवरेज लाइन डाली गई। इसके बाद बनने वाले सड़क पर स्थानीय नागरिकों ने आपत्ति जताते हुए जमकर हंगामा किया।
स्थानीय लोगों को कहना है कि बीते चार दिन से ठेकेदार सड़क बनाने का काम कर रहा है। इसमें सड़क की मोटाई पूरी नहीं ली जा रही है। डामर भी हाथों से ही उखड़ रहा है। इसके चलते यह जल्दी ही उखड़ जाएगी, अधिक से अधिक 6 महीने में। इनका कहना है कि इससे पहले भी अगर अच्छी बारिश हो गई तो सड़क बह जाएगी। यादव सहित अन्य निवासियों का आरोप है कि केवल डामर और मिट्टी को मिलाकर एक लेयर सड़क के ऊपर बिछा दी गई है, जो बार-बार उखड़ रही है। ठेकेदार पर निर्माण में घटिया सामग्री इस्तेमाल करने का आरोप भी लगाया। अधिशाषी अभियंता सुभाष अग्रवाल के अलावा अधीक्षण अभियंता अशोक जैन भी ठेकेदार का बचाव करते नजर आए। उनका कहना था कि अगर घटिया निर्माण हो रहा है तो ठेकेदार को पाबंद किया जाएगा। मौके पर गए अधिशाषी अभियंता सुभाष अग्रवाल से पूरी जांच रिपोर्ट लेने की बात कही। अधिशासी अभियंता सुभाष अग्रवाल ने मौके पर पहुंच यह बात तो मानी कि ठेकेदार सही काम नहीं कर रहा है। साथ ही यह भी जोड़ दिया कि सड़क नई बनी है, इसीलिए तुरंत उखड़ रही है। इसे सेट होने में कुछ दिन लगेंगे।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.