March 9, 2021

News Chakra India

Never Compromise

नंदबाबा मंदिर में नमाज पढ़ने वाला फैसल गिरफ्तार, दो मुस्लिमों ने पढ़ी थी नमाज, हिन्दू दोस्तों ने फोटो खींच किए वायरल

1 min read
मथुरा। पुलिस हिरासत में फैसल खान।

एनसीआई@मथुरा
मथुरा के नंदगांव स्थित विश्व प्रसिद्ध नंदबाबा मंदिर में नमाज पढ़ने का मामला तूल पकड़ने के बाद सोमवार को उत्तर प्रदेश पुलिस ने चार में से एक मुख्य आरोपी फैसल खान को गिरफ्तार कर लिया। मथुरा के थाना बरसाना की पुलिस ने दिल्ली के जामिया नगर से यह गिरफ्तारी की है। वहीं उसके साथी दूसरे मुख्य आरोपी मोहम्मद चांद की तलाश में पुलिस जुटी हुई है। फैसल और मोहम्मद चांद ने ही मंदिर में नमाज पढ़ी थी।

मथुरा। नंद बाबा मंदिर में नमाज पढ़ते फैसल खान व मोहम्मद चांद।

उल्लेखनीय है कि नंद बाबा मंदिर में नमाज पढ़ने का फोटो वायरल होने के बाद मंदिर प्रशासन ने चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया है। साथ ही मंदिर को गंगाजल से भी धोया गया। यह घटना 29 अक्टूबर की बताई जा रही है। कोरोना की वजह से मंदिर में भीड़ कम थी। शुरुआती पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि मंदिर में नमाज पढ़ने वाले दिल्ली की खुदाई खिदमतगार संस्था के लोग हैं। उत्तर प्रदेश के मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि मामले में कानून सख्ती से काम करेगा।
जानकारी के अनुसार मंदिर में 29 अक्टूबर को चार युवक पहुंचे थे। उन्होंने अपना नाम फैसल खान, चांद मोहम्मद, नीलेश गुप्ता और आलोक बताया। इन युवकों ने खुद को हिन्दू-मुस्लिम संस्कृति में विश्वास रखने वाला बताया। मोबाइल में तमाम संत-महंतों के साथ अपनी फोटो भी दिखाईं। इन्होंने मंदिर के सेवादार कान्हा गोस्वामी से मंदिर में दर्शन करने की अनुमति मांगी, तो उन्होंने अनुमति दे दी। मगर अंदर जाकर फैसल और चांद मोहम्मद ने नमाज पढ़ी। उनके दोस्त नीलेश गुप्ता और आलोक ने इसकी फोटो खींची और वायरल कर दी।
इन धाराओं में दर्ज हुआ केस
मंदिर में नमाज पढ़ने का यह मामला सामने आते ही स्वाभाविक रूप से देशभर में बवाल मच गया। साधु-संतों का गुस्सा फूट पड़ा। मंदिर के सेवादार कान्हा गोस्वामी ने थाना बरसाना में धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाकर शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने फैसल, चांद, नीलेश और आलोक पर धारा 153 ए , 295 और 505 में केस दर्ज किया।
ये प्रतिक्रियाएं सामने आईं
इस मामले पर यूपी के अल्पसंख्यक मंत्री मोहसिन रजा ने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से ऐसी आवाजें क्यों उठती हैं। देश का एक मुस्लिम शायर ही क्यों ऐसे लोगों के समर्थन में बयान देता है। सपा और कांग्रेस को भी ऐसे मामलों में भी सामने आना चाहिए कि आखिर एक ही समुदाय के लोग ये क्यों कर रहे हैं। हम आतंकवाद को कुचलने का काम करेंगे। ये तालिबानी सोच के लोग हैं। मथुरा में भी मंदिर में नमाज पढ़कर माहौल खराब करने की कोशिश की गई।
ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि एफआईआर दर्ज कर ली गई है। कानून अपना काम करेगा। कोई माहौल बिगाड़ने की कोशिश करेगा तो कानून सख्ती से निपटेगा।
काशी विद्वत परिषद (पश्चिमांचल) के प्रभारी कार्षिणी नागेंद्र महाराज ने कहा कि सोशल मीडिया से पता चला कि बृजमंडल के नंद मंदिर में कुछ मुस्लिमों ने नमाज पढ़ी। यह माहौल खराब करने के लिए किया गया है। इसको लेकर संत समाज में आक्रोश है। प्रशासन से अपील है कि ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। महामंडलेश्वर नवल योगी महाराज ने कहा कि नंदगांव के मंदिर में नमाज पढ़ने की हम सभी कृष्ण भक्त घोर निंदा करते हैं। यह भगवान कृष्ण का प्राचीन मंदिर है। जिस भी पुजारी ने ऐसा करने दिया या करवाया है, उसकी निंदा करते हैं। उस पुजारी को मंदिर में प्रवेश न दिया जाए। उस पर भी कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि हम लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने की बात कर रहे हैं। वहां मंदिर में नमाज पढ़ी जा रही है। यदि वे इतने बड़े राम कृष्ण भक्त हैं तो मस्जिदों में रामायण पाठ करें, हरि का कीर्तन करें। लेकिन मंदिर में नमाज बर्दाश्त नहीं करेंगे। जो लोग प्रेम की बात कर रहे हैं, वे सब बेकार की बातें हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.