March 1, 2021

News Chakra India

Never Compromise

23 साल की बहू के हत्यारे पति-ससुर ही निकले, अवैध सम्बन्ध के शक और दहेज के लिए गला घोंटा

1 min read

एनसीआई@जयपुर
जयपुर ग्रामीण जिले के कोटपूतली इलाके में पुलिस ने एक विवाहिता के ब्लाइंड मर्डर का खुलासा करते हुए उसके पति और ससुर को गिरफ्तार कर लिया। दोनों बाप बेटे ने गोवर्धन पूजन की रात 15 नवम्बर को 23 वर्षीय बहू पूजा की गला घोंटकर हत्या कर दी थी। इसके बाद उसकी लाश को बेडशीट में लपेट गाड़ी में डाल जयपुर दिल्ली हाईवे पर पनियाला इलाके में सोतानाला पुलिया के पास फेंक दी। पुलिस और परिजनों को गुमराह करने के लिए आरोपी पिता-पुत्र ने हरियाणा के रेवाड़ी जिले के मॉडल टाउन थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवा दी।
इधर, शव मिलने पर जांच में जुटी पुलिस ने एक ही दिन में शव की शिनाख्त कर ली। फिर पीहर पक्ष से पूछताछ के बाद संदिग्ध पिता-पुत्र को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उन्होंने अपराध करना कबूल कर लिया। प्रारम्भिक पूछताछ में सामने आया कि आरोपी पिता-पुत्र को बहू के चरित्र पर संदेह था। इसके अलावा दहेज में पांच लाख रुपए नहीं मिलने से भी वे नाराज थे। इसीलिए उसकी हत्या कर डाली।
सोशल मीडिया से पीहर पक्ष को मौत का पता चला
जयपुर ग्रामीण एसपी शंकर दत्त शर्मा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी आशीष उर्फ मोनू यादव (26) और उसका पिता लक्ष्मण सिंह यादव (60) निवासी मॉडल टाउन, रेवाड़ी हरियाणा है। एसपी के मुताबिक आशीष ने अपने पिता के साथ मिलकर 15 नवम्बर की रात 23 वर्षीया पत्नी पूजा यादव की हत्या कर दी थी। इसी दिन एनएच 8 पर सोतानाला नाले के पास महिला का शव मिला। इसकी ठोड़ी के नीचे गले पर चोट के निशान थे। प्रारम्भिक अनुसंधान में हत्या कर शव फेंकने का संदेह हुआ।
तब कोटपूतली थाना पुलिस ने मृतका की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल की। पनियाला के आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले। जयपुर जिले और हरियाणा में गुमशुदा महिलाओं की जानकारी जुटाई। तब पूजा यादव नामक महिला की गुमशुदगी की रिपोर्ट 15 नवम्बर को रेवाड़ी के मॉडल डाउन थाने में दर्ज होने का पता चला। पुलिस की छानबीन में हरियाणा में पूजा की गुमशुदगी रिपोर्ट की खबर से जांच आगे बढ़ी।
कोटपूतली सीओ दिनेश यादव, पनियाला थाने के सब इंस्पेक्टर इंद्राज सिंह व अन्य पुलिस टीम ने हरियाणा में पहुंचकर छानबीन शुरू की। तब पूजा के ससुराल और पति आशीष के बारे में जानकारी मिली। पुलिस टीम ने मृतक पूजा के चाचा सतवीर यादव से शव की शिनाख्त करवाई। तब पीहर पक्ष ने बताया कि पूजा के पति आशीष व ससुर लक्ष्मण सिंह सहित अन्य परिजन उनसे दहेज की मांग करते थे। पूजा के चरित्र पर शक कर मारपीट करते थे।
दीपावली की रात पूजा ने फोन कर जताई थी हत्या की आशंका
पूजा के परिजनों ने बताया कि 14 नवम्बर की रात को पूजा ने उन्हें फोन कर जान का खतरा बताया था, लेकिन फोन अचानक कट गया था। उससे दोबारा सम्पर्क नहीं हो सका था। इसके बाद 15 नवम्बर को आशीष ने ससुराल वालों को फोन कर बताया कि पूजा कहीं चली गई है। उसकी गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज करवाई है। इस बीच सोशल मीडिया पर पूजा के परिजनों को उसकी लाश देख उसकी मौत हो जाने की जानकारी मिली। इसके बाद उन्होंने पूजा की हत्या का केस दर्ज करवाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.