August 4, 2021

News Chakra India

Never Compromise

आपके वाहन के लिए इसलिए जरूरी है हाई सिक्योरिटी नम्बर प्लेट, महज 5 मिनट में ऐसे करें ऑनलाइन बुक

1 min read

एनसीआई@नई दिल्ली
सरकार की नई गाइड लाइन के बाद वाहनों में अब हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट (HSRP) और कलर स्टिकर लगाना अनिवार्य हो गया है। दरअसल HSRP से आपके वाहन कहीं ज्यादा सुरक्षित हो जाते हैं। दिल्ली सरकार अब HSRP की होम डिलीवरी भी कर रही है और सिंपल प्रोसेस के जरिए इसे ऑनलाइन बुक भी किया जा सकता है।
आप भी हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट को ऑनलाइन बुक करना चाहते हैं तो आज हम आपको इसका प्रोसेस बताने जा रहे हैं। कई जगहों पर ऑनलाइन आवेदन में दिक्कतें आ रही हैं, तो कहीं नम्बर प्लेट के बदले मनमाने दाम लिए जा रहे हैं। इसके लिए आप यहां HSRP की पूरी जानकारी ले सकते हैं।
अब हर राज्य के सभी वाहनों के लिए हाई सिक्योरिटी नम्बर प्लेट जरूरी हो गई है। भले ही आपके पास दोपहिया वाहन हो या फिर चारपहिया वाहन, लेकिन आपको हाई सिक्योरिटी नम्बर प्लेट लगवानी होगी। साथ ही कलर कोड स्टिकर्स भी इस्तेमाल करने होंगे, जो सरकार ने निर्धारित किए हैं। ये नं6बर प्लेट हर राज्य में ऑटोमोबाइल डीलर्स द्वारा ही लगाए जाएंगे। ग्राहक अपनी नम्बर प्लेट के लिए अपने राज्य के हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट यानी एचएसआरपी के पोर्टल पर रजिस्टर करना शुरू कर सकते हैं। साथ ही वह रजिस्ट्रेशन की ऑनलाइन प्रक्रिया में अपना स्टेटस भी चेक कर सकते हैं। लेकिन सवाल ये है कि रजिस्ट्रेशन कराएं कहां और कितने पैसे खर्च होंगे।
वैसे तो इसके ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया अलग-अलग राज्य के लिए अलग-अलग हो सकती है, लेकिन इस एक उदाहरण से आपको एक अंदाजा लग जाएगा कि ऑनलाइन आवेदन करना कैसे है। इसके लिए सबसे पहले अपने राज्य की आधिकारिक एचएसआरपी वेबसाइट पर जाएं। वहां आपको अपनी गाड़ी से चुनी तमाम जानकारियां देनी होंगी, जैसे आपकी गाड़ी प्राइवेट है या कमर्शियल है, दोपहिया है या चारपहिया, किस कम्पनी की है, गाड़ी का नम्बर क्या है सहित ऐसी ही कई अन्य जानकारियां। वहां आपको अपने डीलर को भी चुनना होगा, जिससे आपने गाड़ी ली है, जो आपकी गाड़ी पर हाई सिक्योरिटी नम्बर प्लेट लगाएगा।
जानिए क्या है HSRP
उल्लेखनीय है कि, हाई सिक्योरिटी नम्बर प्लेट (HSRP) एक क्रोमियम बेस्ड होलोग्राम है। इस पर वाहन के इंजन और चेसिस नम्बर होते हैं। इसे वाहन सुरक्षा और सुविधा को ध्यान में रखकर बनाया गया है। हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट एल्युमीनियम की बनी होती है। इस प्लेट पर एक होलोग्राम लगा होता है। इस पर अशोक चक्र बना हुआ होता है। इस होलोग्राम पर स्टीकर होता है, जिस पर गाड़ी का इंजन और चेसिस नम्बर छपा होता है। इस होलोग्राम को नष्ट नहीं किया जा सकता। हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट पर वाहन मालिक का रजिस्ट्रेशन नम्बर भी होता है। हाई सिक्योरिटी नम्बर प्लेट पर 7 अंकों का एक यूनीक लेजर कोड होता है, जो हर नम्बर प्लेट पर अलग-अलग होता है। इससे वाहन को आसानी से ट्रेक किया जा सकता है।
ऐसे जानें अपने राज्य की एचएसआरपी वेबसाइट
सबसे पहले ये पता होना जरूरी है कि आखिर आवेदन करना कहां है। अलग-अलग राज्य के लिए एचआरएसपी वेबसाइट अलग-अलग है। आपके राज्य की एचएसआरपी वेबसाइट क्या है, इसके बारे में अपने राज्य की वेबसाइट पर आपको अपने राज्य की एचएसआरपी वेबसाइट का लिंक मिल जाएगा। या फिर आप हाई सिक्योरिटी नम्बर प्लेट्स कस्टमर केयर नम्बर 011-47504750 पर फोन कर के भी इसकी जानकारी ले सकते हैं। आप चाहे तो hsrp.customercare@gmail.com,jdadmntpt@hub.nic.in या protpt@hub.nic.in पर ईमेल कर के भी पता कर सकते हैं आपके राज्य की एचएसआरपी वेबसाइट का लिंक क्या है।
ऐसे करें हाई सिक्योरिटी नम्बर प्लेट के लिए आवेदन
1. HSRP प्लेट की ऑनलाइन बुकिंग करनी है तो आप www.bookmyhsrp.com पर जाकर बुकिंग कर सकते हैं।
2. इसके बाद वाहनों की पूरी सीरीज खुलेगी, इसमें टू-व्हीलर, थ्री व्हीलर, फोर व्हीलर, भारी वाहन के विकल्प मिलेंगे, इनमें से किसी एक को चुनिए।
3. फिर आपकी गाड़ी किस कम्पनी की है उसका चयन करना होगा। इसकी पूरी लिस्ट होगी, जैसे Maruti, Hyundai या Tata के विकल्प होंगे।
4. गाड़ी की कम्पनी का नाम चुनते ही ये आपसे राज्य पूछेगा, उदाहरण के लिए DL यानी दिल्ली और UP यानी उत्तर प्रदेश।
5. फिर आपको प्राइवेट वाहन और कमर्शियल वाहन के 2 विकल्प दिखाई देंगे।
6. प्राइवेट व्हीकल टेब पर क्लिक करने पर पेट्रोल, डीजल, इलेक्ट्रिक, CNG और CNG+पेट्रोल के विकल्प मिलेंगे, इनमें से किसी एक को चुन लीजिए।
7. इसके बाद आप से गाड़ी की पूरी जानकारी मांगी जाएगी, जैसे BS कौन-सा है, रजिस्ट्रेशन की तारीख, रजिस्ट्रेशन नम्बर, चेसिस नम्बर, इंजन नम्बर, कार मालिक का नाम, ई-मेल आईडी, मोबाइल नम्बर, बिलिंग पता, शहर, अगर GST है तो दें।
8. यह सब जानकारी अपलोड करने पर एक नई विंडो खुलेगी, इसमें गाड़ी की RC और आईडी प्रूफ अपलोड करना होगा।
9. सारी जानकारी और कागजात अपलोड करने के बाद मोबाइल फोन पर OTP जेनरेट हो जाएगा।
10. सबसे आखिरी में पेमेंट का विकल्प आएगा, पेमेंट करते ही ऑनलाइन बुकिंग की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
इतना लगेगा चार्ज
चारपहिया वाहन के लिए रजिस्ट्रेशन फीस 600 रुपए से लेकर 1100 रुपए तक है, जबकि अगर आप दोपहिया वाहन के लिए रजिस्ट्रेशन कराते हैं तो आपको 300-400 रुपए तक खर्च करने पड़ सकते हैं। यदि किसी व्यक्ति को हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नम्बर प्लेट के लिए आवेदन करता है तो ये भी देखना होगा उसके वाहन का कोई चालान तो लम्बित ना हो। वाहन का रजिस्ट्रेशन निलम्बित और निरस्त तो नहीं किया गया है।
कलर कोडिंग भी जरूरी, राहत की बात
हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन के साथ नम्बर प्लेट पर अब तीसरा रजिस्ट्रेशन मार्क भी बनाना होगा। इसमें कलर के जरिए यह दर्शाना होगा कि कौन-सा ईंधन गाड़ी में इस्तेमाल हो रहा है। इसके लिए कलर कोडिंग करनी होगी। दिल्ली सरकार ने उन वाहन मालिकों को फिलहाल छूट दी है, जिन्होंने हाई सिक्योरिटी नम्बर प्लेट और कलर स्टीकर के लिए अप्लाई किया है। उन पर कोई जुर्माना नहीं लगाया जा रहा है, लेकिन उन्हें एप्लीकेशन स्लिप दिखानी होगी, इसलिए अगर आपने HSRP के लिए अप्लाई किया है तो ये स्लिप अपने साथ लेकर चलें।

.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.