June 27, 2022

News Chakra India

Never Compromise

राजस्थान: सीएम हाउस घेराव की चेतावनी, नावां प्रशासन ने दिया बॉडी डिस्पोज करने का नोटिस, बेनीवाल का राजधानी कूच

1 min read

नावां। हनुमान बेनीवाल का जयपुर कूच।

एनसीआई@नागौर/नावां/जयपुर

नमक कारोबारी जयपाल पूनिया की हत्या के विरोध में नावां में धरना तीसरे दिन भी जारी रहा। आज प्रशासन ने जयपाल के परिजनों को बॉडी डिस्पोज करने का नोटिस दिया। पूर्व विधायक हरीश कुमावत धरने पर बैठे हैं। वहीं प्रशासन के नोटिस पर आरएलपी के सुप्रीमो एवं सांसद हनुमान बेनीवाल ने कहा-हिम्मत है तो बॉडी डिस्पोज करके दिखाएं। जब तक मांगें पूरी नहीं होंगी धरना जारी रहेगा। इसके बाद बेनीवाल ने आज शाम 5.15 बजे आरएलपी कार्यकर्ताओं व भाजपा नेताओं के साथ जयपुर कूच कर दिया। पूनिया ने सीएम आवास घेरने की चेतावनी दी है।

इससे पहले मंगलवार को बीजेपी-आरएलपी के नेता नावां शहर में सर्वसमाज के साथ विशाल जनसभा के बाद शाम को आरएलपी सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल के नेतृत्व में बीजेपी-आरएलपी के नेताओं के साथ भारी संख्या में समर्थकों ने जयपुर कूच किया। बेनीवाल ने सरकार और प्रशासन को आधे घंटे में सभी मांगें मानने का अल्टीमेटम दिया था। जैसे ही आधे घंटे का समय पूरा हुआ उन्होंने मंच पर सभी से चर्चा कर समर्थकों के साथ जयपुर की ओर कूच कर दिया। इसके साथ ही सभी गाड़ियों में बैठकर जयपुर के लिए रवाना हो गए।

नावां। अनशन पर बैठे बीजेपी नेता हरीश कुमावत।

इससे पहले सोमवार रात से बीजेपी के पूर्व एमएलए हरीश कुमावत अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठे हुए हैं। नावां नगरपालिका के 10 बीजेपी पार्षद भी एक दिन के लिए अनशन पर बैठे। वहीं जनसभा में पहुंचे आरएलपी प्रमुख और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने कहा कि एसपी कह रहे हैं कि बॉडी को डिस्पोज कर देंगे। एसपी में अगर हिम्मत है तो कर के देख लें, सरकार में ताकत कितनी है पता लग जाएगा। कहना चाहता हूं कि हम कानून व्यवस्था बिगाड़ना नहीं चाहते हैं, लेकिन कोई चुनौती देगा तो हम सड़कों पर संघर्ष करने के लिए तैयार हैं। अब आरपार की लड़ाई होगी। आज ये तय कर लेंगे कि अब आगे रेलवे ट्रेक पे जाएंगे या हाईवे पर जाएंगे।

हनुमान बेनीवाल ने कहा कि एमएल महेन्द्र चौधरी के इशारे पर कारोबारी जयपाल पूनिया के मर्डर को अंजाम दिया गया है। सीबीआई जांच से ही महेन्द्र चौधरी जेल जाएगा। राजस्थान की कोई भी एजेंसी एमएलए के मामले की निष्पक्ष जांच नहीं कर सकती और न ही उसे पकड़ सकती है। हाल ही में एक एमएलए को सीएम अशोक गहलोत ने अपने घर बुलाकर सरेंडर करवाया था, जैसे उसने कोई बहुत बड़ा काम किया हो।

इससे पहले नावां एसडीएम ब्रह्मलाल जाट ने मंगलवार दोपहर को मृतक नमक कारोबारी जयपाल पूनिया के भाई विजय सिंह पूनिया के नाम शव के खराब होने का हवाला देते हुए पोस्टमार्टम करवाने और शव के अंतिम संस्कार करवाने का नोटिस दिया। पुलिस से तामील करवाए गए इस नोटिस को विजय सिंह व अन्य परिजनों ने लेने से मना कर दिया। इस पर पुलिस ने मृतक कारोबारी पुनिया के भाई कृष्ण पूनिया के घर के बाहर नोटिस चस्पा कर दिया। नोटिस में लिखा है कि 17 मई को सुबह 10 बजे तक पोस्टमार्टम करवाकर शव का अंतिम संस्कार करवाएं, नहीं तो आपके खिलाफ एक पक्षीय कार्रवाई की जाएगी।

परिजनों का कहना है कि जब तक नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होगी वे शव का पोस्टमार्टम नहीं होने देंगे। वहीं एसपी राममूर्ति जोशी ने कहा है कि मामले में अभी बयान, नक्शा मौका और पोस्टमार्टम ही नहीं हो पाया है। इसके बाद ही आगे की कार्रवाई हो सकती है। पुलिस इसके लिए लगातार परिजनों के सम्पर्क में है।

बीजेपी के वयोवृद्ध नेता, पूर्व एमएस और वर्तमान में कुचामन नगरपालिका के पार्षद हरीश कुमावत ने बीजेपी नेता और नमक कारोबारी पूनिया की हत्या के विरोध में 7 सूत्री मांगों को लेकर अनशन शुरू कर दिया है। कुमावत ने बतया कि जब तक प्रशासन उनकी सभी मांगें नहीं मान लेता तब तक वो अनशन पर रहेंगे। उल्लेखनीय है कि 79 साल के हरीश कुमावत 9 बार नागौर बीजेपी के जिलाध्यक्ष, 4 बार एमएलए, दो बार कुचामन नगरपालिका चेयरमैन और 2 बार शिल्प एवं माटी कला बोर्ड के चेयरमैन रह चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.