April 14, 2021

News Chakra India

Never Compromise

पीएम मोदी के दौरे के बाद बांग्लादेश में हिंसाः मंदिरों, ट्रेन पर हमले, 12 की मौत

1 min read

बांग्लादेश के नारायणगंज में रविवार, 28 मार्च को इस्लामिक समूह हिफाजत-ए-इस्लाम के कार्यकर्ता डंडों के साथ नारेबाजी करते हुए।

एनसीआई@सेन्ट्रल डेस्क

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दौरे के विरोध में बांग्लादेश में एक संगठन के द्वारा शुरू किया गया विरोध प्रदर्शन भारी हिंसक रूप ले चला है। इस संगठन के लोगों ने हिन्दू मंदिरों और ट्रेन पर हमले कर उन्हें बुरी तरह नुकसान पहुंचाया है। इस घटनाक्रम में अभी तक 12 लोगों के मारे जाने की सूचना है।

बांग्लादेशी पुलिस और पत्रकारों के हवाले से कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया कि चरमपंथी इस्लामिक समूह के सैकड़ों लोगों ने रविवार को पूर्वी बांग्लादेश में स्थित हिन्दू मंदिरों और रेलगाड़ियों पर हमला कर दिया। मोदी के दौरे के बाद बांग्लादेश में यह हिंसा धीरे-धीरे फैलती गई। वहां अभी तक 12 प्रदर्शनकारियों के मारे जाने की खबर है। दरअसल, शुक्रवार को इस्लामिक समूहों द्वारा पीएम मोदी के दौरे के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया गया था। इसी दौरान प्रदर्शनकारियों की पुलिसकर्मियों से झड़प हुई। बताया गया है कि प्रदर्शनकारियों की मौत के बाद वे बुरी तरह उग्र हो गए। इसके बाद झड़प ने हिंसा का रूप ले लिया।

जानकारी के मुताबिक, घनी आबादी वाले ढाका में शुक्रवार को प्रदर्शनकारियों को काबू करने के लिए पुलिस को टियर गैस और रबड़ वाली बुलेट्स का इस्तेमाल करना पड़ा था, जबकि रविवार को हजारों प्रदर्शनकारियों ने डाउन स्ट्रीट पर मार्च निकाला। एक पुलिस अफसर के हवाले से रिपोर्ट्स में आगे कहा गया- हिफाजत ए इस्लाम समूह के साथ उसके समर्थकों ने ब्राह्मणबरिया के पूर्वी जिले में एक ट्रेन पर हमला कर दिया था, जिसमें 10 लोग घायल हो गए।

विदेशी समाचार एजेंसी ‘रॉयटर्स’ को एक अफसर ने नाम न बताने की शर्त पर बताया कि, “उन लोगों ने ट्रेन पर हमला बोला और उसके इंजन रूम के साथ लगभग सभी बोगियों को नुकसान पहुंचाया।” वहीं, पत्रकार जावेद रहीम ने जानकारी दी कि कई सरकारी दफ्तरों में आग लगा दी गई थी और कई हिन्दू मंदिरों पर भी हमला किया गया।

उल्लेखनीय है कि मोदी का यह दौरा बांग्लादेश के राष्ट्रपिता शेख मुजीबुर रहमान की जन्‍मशताब्‍दी व भारत और बांग्लादेश के बीच राजनयिक सम्बन्ध स्‍थापित होने के पचास वर्ष पूरे होने के साथ बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के भी पचास वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में हुआ था। मोदी यह यात्रा पूरी कर शनिवार को स्वदेश लौटे। कोरोना महामारी फैलने के बाद यह उनकी पहली विदेश यात्रा थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.